वो कौनसी बातें हैं जो अभिभावकों को ई.सी. सी. ई. प्रोग्राम के बारे में पता होनी चाहिए?

ई.सी.सी.ई.प्रोग्राम नौनिहालों की विभिन्न आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है।इसकी अपनी कुछ विशेषताएँ होती हैं जो बच्चों के सर्वांगीण विकास के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद करती हैं।
  • यह प्रोग्राम 3 -6 साल तक के बच्चों के लिए है ,ना कि प्राथमिक वर्ग के बच्चों के लिए। 
  • यह एक बाल-केंद्रित प्रोग्राम है ना कि अध्यापक-केंद्रित अर्थात यहाँ जो कुछ भी किया जाता है वो बच्चो को ध्यान में रखकर किया जाता है ना कि टीचर्स को। 
  • यह एक ऐसा प्रोग्राम है जो स्कूल में बच्चों के अच्छे प्रदर्शन पर जोर देता है ना कि स्कूल की प्रसिद्धि बढ़ाने पर। 
  • यह बच्चे के सम्पूर्ण विकास के लिए "खेल-खेल में सीखने की प्रणाली"पर जोर देता है। यहाँ स्कूल की कोशिश यही होती है कि जितना ज्यादा हो सके बच्चे को खेलते-खेलते ही नई-नई चीजों के संपर्क में लाया जाए। वो खिलौनों के माध्यम से सीखने लगे। 
  • यह एक ऐसा प्रोग्राम है जो बच्चे को प्राथमिक स्कूल में जाने के लिए पूरी तरह से तैयार करता है। 
यह 3 -R के विकास के लिए आधार प्रदान करता है यहाँ 3 -R से मतलब है :-
Reading-पढ़ना 
Writing-लिखना 
Arithmatic-अंकों का ज्ञान  
  • यह प्रोग्राम बच्चोँ को अपने साथी समूह के साथ पूरी तरह सक्रिय रूप से भाग लेने के लिए प्रेरित करता है। इसमें बच्चों को उनसे संबंधित छोटी-छोटी समस्याओं को सुलझाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। यहाँ यह सुनिश्चित किया जाता है कि बच्चा सिर्फ गुमसुम बैठकर सब कुछ देखता ना रहे ,वह स्वयं भी अधिकतर गतिविधियों में भाग ले। 
  • प्ले स्कूल यह सुनिश्चित करता है कि बच्चा कुछ सीखने के लिए पहले खुद से प्रयास करे अर्थात अगर प्ले या चिकनी मिटटी से बच्चे को कुछभी बनाना सिखाया जा रहा है तो पहले बच्चे को खुद से प्रयास करने दिया जाता है। इस तरह से उसमे अलग-अलग तरह के कौशल विकसित किये जाते हैं। 
  • इसकी सबसे खास बात यह है की यह परीक्षा पर जोर नहीं देता।यह बच्चे के अनुभवों को परीक्षा परिणाम के रूप में नहीं तोलता। 
  • यह एक पूर्व-नियोजित प्रोग्राम है ,पर इसमें बच्चों के हिसाब से बदलाव किया जा सकता है। 
  • यह एक ऐसा प्रोग्राम है जो बच्चों में अप्रत्यक्ष रूप से आत्म-अनुशासन को प्रोत्साहित करता है। 

Comments